Advertisement

Sitemap kya hai ?और यह जरूरी क्यों है

नमस्ते दोस्तो क्या आप को पता है sitemap क्या होता है और यह जरूरी क्यूं है अब और  हैरान मत होइए दोस्त ।
क्यूंकि साइटमैप एक ऐसी तरकीब  है जो आपकी वेबसाइट का रास्ता बनाता है गूगल सर्च में शो होने के लिए ।
इस आर्टिकल में आसान शब्दों और example और कुछ ऐसे ट्रिक हें जो इसे समझने के बाद और कोई वेबसाइट या research करना नहीं पड़ेगा ।

तो चलिए actual में समझते हे की यह sitemap हे क्या चीज़ ?

साइटमैप क्या है ?

साइटमैप को अगर हम आसान सब्दों में समझे तो यह एक जानकारी हे आपका | मतलब आपके वेबसाइट का   sitemap, मातलब वेबसाइट का जानकारी |

इसे साइटमैप इसीलिए कहा जाता है क्यूंकि साइटमैप xlm

Advertisement
लैंग्वेज में लिखा गया होता  है ।
साइटमैप एक तरह से कहें तो नाम है इसका हिंदी में मतलब होता है साइट यानी जगह और मेप मतलब नक्सा ।
तो इसका मतलब यह है कि वेबसाइट का जगह का नकसा एक जानकारी है । आपके  वेबसाइट की जानकारी या पता का लिस्ट गूगल को देना होता  है । Google search console में website ownership verify होने के बाद ।

चलिए इसको ओर थोड़ा आसान से समझते हैं

हम सभी जानते हैं facebook, YouTube, Google… यह सब वेबसाइट है,  लकिन गूगल एक सर्च इंजन वेबसाइट है जिसमें जानकारी या समझ मिलती है ।
इन्हीं हमारी सबकी वेबसाइट एक छोटी छोटी किताब मिलकर एक बड़ी मोटी किताब है । इसकी हम इंटरनेट, ऑनलाइन  नाम दे सकते है ।
और इतनी बड़ी किताब जिसमें हजारों लाखों अध्याय   और पन्ने  हैं । अगर कोई इसमें sikhnaasanhe.com वाली  छोटी कितब को पढ़ने के लिए निकालना चाहे तो
इन हजारों लाखों किताबों में से एक छोटी किताब को सर्च करके निकाल पाना । बोहोत ही मुश्किल  काम होगा और होता ।
इसी काम को गूगल सर्च वेबसाइट आसानी से ढूंढ निकलता है ।

और यह गूगल सर्च केसे कम कार पता है ?

जवाब :- है  गूगल के अपने किताब के कंटेंट(एक लिस्ट ) के वाजेसे  से    । कहने का मतलब किसी भी किताब के पहले या दूसरे पेज मेही पूरी किताब की सूचना दी जाती है कि यह अध्याय इस पन्ने पर है इतने पेज no. में यह हे  ।
इससे पढ़ने वाले को कोई परेशानी नहीं होती है । जब चाहे जहां चाहे कोई भी अध्याय को झट से सर्च करके पढ़ सकता हे।
उसी तरह गूगल भी एक सूचना की तरह है और उसी सूचना के list में अपना वेबसाइट को लिस्ट में एड करवाना होता है ।
क्यूंकि कोई भी गूगल में सर्च करे तो वो आसानी से वेबसाइट/ब्लॉग  के आर्टिकल को पढ़ सके 
और इसी लिस्ट का भाषा xlm भाषा में साइटमैप के जरिए Google search console में लिस्ट करवाते हैं एड करते हैं ।

कहने का मतलब :-
1 Internet – एक मोटी किताब
2 Google – सू‌चना Contents
3 xlm language – किताब की कुछ भाषा ( मतलब वेबसाइट में ऐसे ही कई तरह के html,xlm,Java script, language से मिल कर एक वेबसाइट को रूप देते हैं
4 sitemap – यह हे किताब के पेज number जो google,सुचना)   से लेके आपके website के पोस्ट, पेज)  तक जुडी हे ।

साइटमैप क्यूं एड करना जरूरी है ?

उपर दिए गए आर्टिकल को पढ़ कर थोडा आपको अंदाजा लग गया होगा कि अगर हम Google search console में अपना वेबसाइट को एड नहीं करते है तो ।
हमारा वेबसाइट किसी काम का नहीं । मेहनत और समय दोनों का नुक़सान । मतलब लोगो को दिखेंगे ही नहीं तो पढ़ेंगे क्या?
इसलिए साइटमैप को Google search console में एड करना बोहोत जरूरी है ।

साइटमैप कितने तरीके के होते हैं ?

यह तो था वेबसाइट के पोस्ट/आर्टिकल का  ।
लेकिन साइटमैप 6 टाइप के हैं ।
1 Html sitemap
2 xlm sitemap
3 image sitemap
4 video sitemap
5 index sitemap
6 url sitemap

Html sitemap क्या है ।

html  programming language हे एक तरह के कोडिंग है जो प्रोग्रामर और  टेक्नोलॉजी के वारे में समझ रखने वाले समझ सकते हैं । वेबसाइट को भी html language से बनाया जाता है  लेकिन वो पीछे रहता है हमें सिर्फ ऊपर का दिखता है ।
चलिए थोड़ा आसान करते है । उदाहरण के तौर पे एक पेंटिंग को लेते हैं हमें जो पेंटिंग दिखाई देती है लेकिन उसके पीछे रंग जो सिहाई और ब्रश और पेपर या पेज और स्किल से  बनती है ।
जब पेंट बन जाती हे तब  piture  दिखाई देती है लेकिन ब्रश और इंक नहीं ।
उसितरह वेबसाइट के टेक्स्ट,ग्राफिक,कॉलर तो दिखाई देती है लेकिन html language नाही ।
यह एक प्रोग्रामिंग भाषा है ।

xlm sitemap क‌या हे ?

xlm भी html कि तरह एक प्रोग्रामिंग भाषा है । लेकिन xlm इस्तेमाल किया जाता है html की‌‌यु नाही ?
इसकी कारण है html पेहले इस्तेमाल होती थी अभी भी होती है लेकिन साइटमैप के लिए xlm लैंग्वेज html से थोड़ा एडवांस है ।
जो कि गूगल को समझने में बोहोत आसानी होती है ।
इसीलिए साइटमैप में xlm लैंग्वेज की यूज होती है और यह एक एडवांस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है ।

image sitemap क‌या है ?

इमेज साइटमैप भी  xlm साइटमैप की लैंग्वेज में होती है बस इतनी सी फर्क है |इसमें इमेज यानी तस्वीर जो jpg,png, ऐसे कई तरह के फॉर्मेट  में होती है ।
अगर आप चाहते है कि अपनी वेबसाइट गूगल पेज के पहले गिनतियों में आए रैंक करे ।
तो इमेज की अच्छी तरह टाइटल alt, text,caption aur description में जानकारी दी जाती है । क्यूंकि अगर कोई आपके इमेज रिलेटेड तस्वीर सर्च करे तो आपका इमेज सहित वेबसाइट नजर आए और अच्छी traffic मील साके ।
इसी तरह video sitemap का इस्तेमाल करसकते हैं । आपका एक पोस्ट में जितना जादा  साइटमैप गूगल से कनेक्ट रहेगा उत्नही ।
ट्रैफिक मिलने के चांस बढ़ जाएंगे ।

साइटमैप क्या है और यह जरूरी क्यों है

साइटमैप क्रिएट करना बोहोत ही आसान होगा अगर आप Google search console में अपने वेबसाइट का ownership authorization successful हुआ हो तो ।
आप ही  सोचो गूगल में  आपका वेबसाइट दर्ज नहीं हुआ हो तो पोस्ट को केसे साइटमैप के जरिए  एड  कर सकता है ।
इसके लिए आप यहां क्लिक करें Google search console
sitemap create करने के लिए वैसे तो 3,4 तरीके हे ।
1  गूगल सर्च में टाइप करे अपने डोमेन नेम स्लास xlm.sitemap  करके टाइप करे ।
2 Google xlm sitemap plugin के मदात से भी जेनरेट कर सकते

Yoast seo , xlm wordpress  sitemap इसी तरह और भी plugins हे

3. कोडिंग करके ऐड कर सकते हे

1 .Google Search console में एके सिर्फ sitemap.xlm टाइप करके सबमिट करना हे

2. Yoast SEO PLUGIN से भी SITEMAP क्रिएट कर सकते हैं

उसके लिए अपने वेबसाइट में YOAST SEO PLUGIN इनस्टॉल करके एक्टिव करना होगा

YOAST SEO में आके General -Features – XLM SITEMAP के ? मार्क में क्लिक करें फिर SEE XLM sitemap में click

येहाँ आने के बाद एक चीज ध्यान रखिएगा अगर आपका वेबसाइट/ब्लॉग नया हे तो फिर अप सिर्फ POST  और PAGE XLM sitemap को कॉपी करके  Google Search console में ऐड करे

में इसलिए पोस्ट और पेज को कहा क्यूंकि category , author के भी सितेमाप होंगे तो फ्यूचर में error आसक्त हे |

Sitemap को Google Search console में ऐड केसे करे ?

Google Search console में आने के बाद लेफ्ट साइड में सितेमाप को क्लिक करके add a new sitemap में ऐड करें

आगर रेड कलर का couldn’t fetch लिखा आये तो 5 min. wait करने के बाद refresh करें फिर भी ना हो तो xlm sitemap को ठीक से कॉपी करके पेस्ट करें

इसी तरह Google xlm sitemap plugin install करके xlm sitemap generate कर सकते हे |

3 . Coding करके ऐड कर सकते हे और कोडिंग करना उसके लिए आसन होगा जो WEBSITE DEVELOPER या PROGRAMMER हो

Conclusion :-

मेरी पूरी कोशिस थी की इस आर्टिकल को एसे तरीके से लिखू की आपको sitemap के वारे में कोई confusion ना रहे और पूरी तरह आसानी से समझ में आजाये

उमीग करता हूँ आपको यह आर्टिकल आछा लगाहो , कोई भी सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में टाइप करके बता सकते हैं

Advertisement
Amit kujur: नमस्ते दोस्तों मेरा नाम Amit Kujur हे ,में इंडिया के Odisha States के रहने वाला हूँ | आछा लगता हे जब इन्टरनेट के मदत से कुछ सीखते हैं और उसे website/blog के जरिये आपही जसे दोस्तों के बिच शेयर करना आछा लगता हे और मुझे भी सिखने को बोहुत कुछ मिलता हे | इसी passion को लेकर sikhnaasanhe.com website नाम का ब्लॉग बनाएं जहा हिंदी भाषा के आसान सब्दों में हार तरह के technology और skills related आर्टिकल जरिये मेरा जितना जो experience और knowledge हे शेयर करता हूँ |

View Comments (0)

Advertisement