”Imandar” shabd ki asli arth

”Imandar” shabd ki asli arth

2 तीमुथियुस 3:1-5

1 यह भी जान लो, कि अन्त के दिनों में बहुत विपत्ति के दिन आयेंगे।

2 लोग स्वयं से प्रेम करने वाले और धन के लोभी, अपनी ही डींग हाँकने वाले, घमण्डी, परमेश्वर के विरोध में कहने वाले, माता-पिता की बात टालने वाले, धन्यवाद न देने वाले और अशुद्ध,

3 स्वभाविक प्रेम रहित, क्षमा न करने वाले, बदनामी करने वाले, बिना सयंम के, निर्दयी और अच्छाई के विरोधी होंगे।

4 विश्वासघाती, ज़िद्दी, घमण्डी और परमेश्वर को चाहने के बजाए सुखविलास की खोज करने वाले होंगे।

5 धर्मी दिखेंगे, किन्तु इसकी शक्ति का इन्कार करने वाले होंगे। ऐसे लोगों से दूर रहना।

 

  • आप सब जानते हैं पौलुस तीमुथियुस आपस में भाई थे पर ये भी जानिये पौलुस का सब से अच्छा चेला भी तीमुथियुस ही था। क्यों पौलुस ने तीमुथियुस पर अपना समय लगा रहा था ?

क्यों कि पौलुस तीमुथियुस को अच्छी तरह से जानता था कि में जो उसको शिखा रहा हूं वो शिख रहा है आप बाईबल में ये जरूर पढ़े होंगे यीशु मस्सी भी दो ग्रुप बांए थे एक 9 का ग्रुप था ओर दूसरा 3 का ग्रुप था ;

यीशु क्यों 3 वाले ग्रुप से जादा मिलते थे अगर में किसी व्यक्ति से अधीक मिलता हूं किसी से कम मिलता हूं उसका कुछ कारण होते हैं उनके भी  क्यों कि मुझे पता है कोन ईमानदार(sincere) है

और कोन ईमानदार(sincere)नहीं है कोई ऐसा भी होता है सिर्फ कलिशिया में आता है पर कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो ईमानदार होते हैं यीशु ने कहा जो डाली फलती है पिता उसे छाटता है।

आपको पता है पौलुस ने तीमुथियुस को लिखा था अन्त के दिनों में बहुत कठिन समय आयेंगे। तो आपको पता है किस तरह के कठिन समय आयेंगे ?

पौलुस कहता है अन्त के दिनों में कलिशिय के अंदर जो लोग बैठे रहेंगे उनका स्वभाव कुछ ऐसे होगा लोग स्वयं से प्रेम करने वाले और धन के लोभी, अपनी ही डींग हाँकने वाले, घमण्डी, परमेश्वर के विरोध में कहने वाले,

माता-पिता की बात टालने वाले, धन्यवाद न देने वाले और अशुद्ध , स्वभाविक प्रेम रहित, क्षमा न करने वाले, बदनामी करने वाले, बिना सयंम के, निर्दयी और अच्छाई के विरोधी होंगे।

विश्वासघाती, ज़िद्दी, घमण्डी और परमेश्वर को चाहने के बजाए सुखविलास की खोज करने वाले होंगे। धर्मी दिखेंगे, किन्तु इसकी शक्ति का इन्कार करने वाले होंगे।

बाहर से वे मसीह के मानने वाले होंगे, भीतर से फाड़ खाने वाले भेड़िए 👉(मत्ती 7:15)। दूसरे शब्दों में वे ढोंगी होंगे। वे भली भाषा का उपयोग करेंगे, किन्तु इसका अर्थ न जानेंगे। अपराधों से बचाने के सु-संदेश की ताकत को वे नहीं जानते👉

(रोमि. 1:16) यह भी कि सुसमाचार की शक्ति लोगों को नया कैसे बनाती है 👉(यूहन्ना 3:5-8)। इस सामर्थ को अपने जीवन में न जानते हुए, वे इसका इन्कार करते हैं।

  • यीशु मसीह ने कहा अंतिम दिनों में बाहर सुनामी आएगी अकाल आयेंगे भूकंप आयेंगे लेकिन पौलुस कहता है अन्तिम समय बुरे स्वभाव के लोग बैठेंगे आयेंगे लेकिन तुम उन्हें पेहेचान नहीं पाओगे

क्यों कि वो सब भकति के भेष में होंगे सब आंखे बंद करके आराधना करते होंगे लेकिन उनके अंदर कपट होगा , स्वार्थ होगा , लोभ होगा , डींग मार होंगे , घमण्डी होंगे , निंदक होंगे ,

बात टालने वाले, धन्यवाद न देने वाले और अशुद्ध , स्वभाविक प्रेम रहित, क्षमा न करने वाले, बदनामी करने वाले, बिना सयंम के, निर्दयी और अच्छाई के विरोधी होंगे। विश्वासघाती, ज़िद्दी होंगे। ऐसा स्वभाव उनका होगा।

आज के समय में लोग कलिश्या में जितने नम्र दिखते हैं उतने नम्र अपने घर में नहीं है ओर न ही घर के बाहर नम्र हैं। इसका मतलब कुछ लोग इस श्रेणी(category) में आते होंगे में आपसे ये कहना चाहता हूं

आप विश्वासी में आते होंगे लेकिन आप अंदर से पूरी तरह खाली हैं। यीशु मस्सी को सारे अधिकार है पर एक अधिकार पिता ने उनको नहीं दिया है मरकुस कि किताब में लिखा है एक आदमी को ऊपर से नीचे लाया गया था

खप्रा तोड़ के यीशु ने उस से कहा हे मेरे पुत्र तेरे पाप समा हुए उठ ओर चल फरिसि वहां पर कुड़ कुड़ाने लगे ये कौन है जो गुनहाहों को माफ करता है यीशु मस्सी कहते हैं मनुष्य के पुत्र को पृथिवी पर पाप क्षमा करने का अधिकार है ;

आपको पता है एक आदमी मर गया ओर ऊपर चला गया तो स्वर्ग में यीशु को पाप क्षमा करने का कोई अधिकार नहीं मिला है। वो सिर्फ पृथिवी पर आपके पाप क्षमा कर सकता है।

दाऊद कहता है मृत्यु में पड़ा हुआ व्यक्ति तेरा स्तुती नहीं कर सकता जो अधोलोक में जाए तेरी आराधना नहीं कर सकता ओर मरा हुआ खुन तुझे धन्यवाद नहीं दे सकता।

जब तक जिंदा हो आपको मोकें हैं इस लिए मूसा कि महान प्रार्थना से सीखो वो कहता है मुझे अपने दिन गिनने कि समझ दे ताकि में बुद्धिमान बनु।

आप सोचो जो लोग 50 क्रोस कर चुके हैं कम उम्र के भी हो जरा अपने बारे में सोचो क्या भरोसा है मौत का। याकूब कहता है तुम्हारा जीवन है ही क्या भांप कि तरह।

उदाहरण : जब हम प्रेसर कुकर में दाल पकाते हैं एक सिटी में भांप दिखती है फिर एक सेकेंड में भांप गायब हो के निकल जाती हैं। तुम आज दिखोगे कल तुम्हारा अस्तित्व ही नहीं होगा।

आप को पसंद आया हो या नहीं हम सच्चाई बोलते आ रहे हैं और आगे भी सच्चाई ही बोलेंगे। बाईबल बताती है जिसके कान हो वो सुनेगा अब देखिए आप इस  👉

2 तीमुथियुस 3:1-5 किताब में लिखी हुई स्वभाव में हैं तो पुन्यछेद नहीं है अब भी आशा है बाईबल कभी किसीको निराश नहीं करती चाहे आप कभी भी किसी गड्ढे में पड़े क्यों न है परमेश्वर आपको वहां से निकाल सकता है।

  • बाईबल में लिखा है इस्राएल का राजा था उसका नाम शाऊल था ; परमेश्वर ने पुराने नियम में हर काम बांट के रखा था ; जैसे आप ऑफिस में काम करते हैं तो हर कोई का अलग अलग काम होता है

किसी को टैली का काम किसी को लिखने का किसी को कॉल करने का काम मिलता है ! ठीक उसी तरह राजा लड़ने जाते थे याजक बलिदान करते थे और नवि परमेश्वर कि सुनके प्रजा से बात करने जाते थे

अब क्या हुआ जब परमेश्वर ने शाऊल को राजा बनाया जानते हैं वहां पर क्या हुआ शाऊल को लड़ने जाना था अब कोई भी लड़ाई पहले बलीदान कर के लड़ने जाना था हुआ क्या शाऊल ने लोगों के

दबाव में आकर बलिदान करना शुरू किया और है बात परमेश्वर को बड़ी बुरी लगी परमेश्वर ने वहां पर इस गलती को अनदेखा किया कोई बात नहीं ठीक है हमारा बच्चा है हम मोका देंगे लेकिन आप को पता है

परमेश्वर कि कृपा देख कर भी शाऊल ने मन नहीं फिराया ये जानने के बाद भी उसने प्रभु ने माफ किया फिर उस ने मन नहीं बदला बार बार गलती करता रहा करता रहा अन्त में प्रभु ने अपनी भविष्यदकता भेजा और कहा

इसे बोल में इस से परेशान हो गया हुं इसको राजा के पद से निकाल और दाऊद को अभिषेक कर ओर जैसे शाऊल गलतियां कि और नवी उसके पास गया तो शाऊल ने अपना गुन्हा कैसे माना

नवी ने शाऊल से काहा तुमने ग़लत किया है जानते हैं शाऊल क्या कहता है प्रजा के लोगों ने मुझसे करवाया है। अब भी उसका बेईमान स्वभाव कैसे देखो बहार आ रहा है।

दाऊद उसकी जगा पे राजा बना आपको पता है दाऊद ने शाऊल से दस गुना अधिक पाप किये थे एक दिन वो छत पे गया एक औरत को देखी जो नाहा रही थी उसको बुलवाया

और उस औरत के साथ व्यभिचार किया और उस व्यभिचार को छुपाने के लिए हत्या करवाई एक दिन नातान नवी आया और नातान नवी ने दाऊद से एक कहानी बताई एक भेड़ थी और एक आदमी कि बहुत प्यारी भेड़ थी और

एक आदमी ने उसको हत्य लिया और उसको काटा दाऊद इतना भड़क गया और कहा कोन है उसको ले कर आओ में उसको अभी मारूंगा वद करूंगा और नतान ने दाऊद से कहा वो तू है।

जब दाऊद को उसका पाप याद दिलाया गया तब दाऊद कहता है हां मैने पाप किया है।

  • कितने लोग हैं जो परमेश्वर के पास ऐसा कहते हैं प्रभु बिकुल 2 तीमुथियुस 3:1-5 किताब में लिखी हुई स्वभाव मुझ में है में भक्त्ति के भेष में दिखता हूं पर मेरे अंदर ये असलियत है में हूं

ऐसा आप जानते हो आप कभी अच्छे बीज नहीं बन सकते पर आप एक अच्छी जमीन बन सकते हो। बाईबल में कया लिखा है परमेश्वर ने एक जमीन के बारे में लिखी है 30 , 60 , 100 गुना वो जमीन है

कोन सी जिस के अंदर परमेश्वर काम कर सकता है 👉(मत्ती 13:23 लेकिन अच्छी ज़मीन में बीज़ों का गिरना उस इन्सान की तरफ़ इशारा है जो सुनकर समझता है, उसी में परमेश्वर की बातों का नतीजा दिखता है।

कुछ लोग सौ गुना, कुछ साठ गुना और कुछ तीस गुना फ़सल पैदा करते हैं।”) वो जमीन ईमानदार है वो पृथिवी ईमानदार है जो अपना गनहा मानती है और परमेश्वर समय समय पर उनके अंदर अच्छे बिज बो सकता है।

हमारे अंदर प्रोब्लेम ये है कि हम हमेशा अच्छी बिज बनने की कोशिश करते हैं कितने लोग अच्छी जमीन बनने कि कोशिश करते हैं हमेशा अपना विवेक प्रभु के सामने सुद्ध रखते हैं।

आपको पता है आज प्रोब्लेम क्या है लोग पवित्र होना चाहते हैं बिना ईमानदारी के वो समझ ही नहीं पा रहे हैं कि पवित्र करना परमेश्वर का काम है आप खुद को पवित्र कर ही नहीं सकते हैं

परमेश्वर ने आपको जिस चिज के लिए बुलाया है वो है ईमानदार बने रहो। इससे पहले आप यीशु के क्रोस के पास जाओ उससे पहले दो मिनट के लिए आप उस चोर के सामने जाओ

वो आपको बताएगा आपको सिखाएगा यीशु के सामने कैसे जाना है। जानते हो उस चोर ने क्या कहा हमने अपने कामों का ठीक फल पाया है और यीशु के मुंह से पांचवा वचन निकला तु आज ही मेरे साथ स्वर्ग लोग में होगा ।

मरने से पहले उसने मान लिया कि वह ग़लत काम किया है उसने अपना ईमानदारी दिखाई। कया आप जो दिखते हैं वो हैं या भक्त्ति के भेष लिए हुए घुमते हैं।

इससे पहले आप पवित्र आत्मा मांगे प्रभु से उससे पहले आप प्रभु से कहे प्रभु मेरे अंदर से याकूब को निकाल ताकि में इस्राएल बन सकुं। में आप से सच कहना चाहता हूं आने वाले दिन में इतनी झूठी शिक्षा दी जाएंगी

के लोग प्रभु से इतना दूर हो जाएंगे ये पवित्र शास्त्र कहता है अन्तिम दिनों में लोग दुष्ट आत्माओं के बातों को सुनकर भटक जाएंगे।

आने वाले दिनों में कलिश्याओं में प्रभु यीशु मस्सी के बारे में प्रचार करना बंद कर देंगी और ये प्रचार करना शुरु कर देगी कैसे अमीर आदमी बनना है कैसे चंगा रहना है कैसे आप एक बिल्डिंग बना सकते हैं कैसे नई गाड़ी खरीद सकते हैं।

आज आप खुद को धन्य समझो ऐसे बुरे समय में परमेश्वर का सुध वचन पहुंच रहा है। तो प्राप्त करो परमेश्वर के इस सुध कलाम को सुध वचन को।

कितना ऐक्टिंग करे आपको पता है यीशु ने एक जगा ऐसा कहा हे सांप के बच्चो आने वाले विपत्ती से बचने को किसने कहा सांप टेढ़ी चाल चलती है फिर उसका बिल आए तो सीधा हो जाता है और घुस जाता है।

ठीक उसी तरह इंसान भी पूरी दिन बेईमानी के जिन्दगी जीता है उसके बाद चर्च में ईमानदार दिखाता है सीधा बनने का नाटक करता है। तो ईमानदार बनों एक्टर नहीं।

  • जब पौलुस कहे रहा है अन्त के दिनों में कठिन समय आयेंगे तो जानते हो वो क्या लिख रहा है ? वो ये लिख रहा है कि कठिन समय इसमें आयेंगे कि तुम्हारे बीच बुरे स्वोभाव के लोग बैठेंगे

पर तुम्हारा सबसे बड़ा प्रोब्लेम या खतरा कि बात ये है इन्होंने भकती का भेष धारण कर लिया है। पौलुस की यह सलाह कि ऐसे लोगों से बचे रहें यह दिखाती हैं, कि ऐसे लोग उन दिनों में थे।

प्रत्येक पीढ़ी में ऐसे लोग हैं। ऐसा संभव है कि इस युग के अन्तिम समय में ऐसे लोग और अधिक होंगे।  हमे ऐसे लोगों से बचें रहने को कहता है ये अगर परमेश्वर पिता के आज्ञाओं को नहीं मानते

और अपनी नियम चलाते हैं दूसरों को उंगली करते हैं अगर आप उनको उनकी गलती दिखाओगे तो ऐसों के लिए बाईबल ये शब्द कहती 👉 (मत्ती 18:17 अगर वह चर्च की भी न सुने,

तो उसे टॅक्स जमा करने वाला और मूर्तिपूजक ही समझो।) वह व्यक्ति जो एक सच्चे परमेश्वर की आराधना नहीं करता है; टॅक्स जमा करने वाला ही है वह जो अपने लोगों के साथ काम नहीं करता दुश्मनों के पक्ष में काम करता है👉

(मत्ती5:46 क्योंकि अगर तुम अपने प्यार करने वालों ही से प्यार करो, तो तुम्हें क्या मिलेगा? क्या कर लेने वाले भी ऐसा नहीं करते ? )।

इसका मतलब यह है कि अगर चर्च का एक सदस्य अपने बुरे काम को नहीं छोड़ता है, उसे चर्च से निकाल दिया जाना चाहिए।

इसके पीछे मकसद यही होता है कि वह लोगों की सहभागिता के खोने की पीड़ा की वजह से अपनी दुष्टता को छोड़े।

स्वार्थी – इसका मतलब अपने फायदे के लिए दूसरों का उपयोग करेंगे

लोभी – इसका मतलब हमेशा धन कमाने के लिए हमेशा दिमाग चलता रहेगा

डींग मार – इसका मतलब जो वो है ही नहीं अपने आप को दिखाएंगे या प्रेजेंट करेंगे

अभिमानी – इसका मतलब है घमण्डी वो बोलेंगे हमने माफ किया है लेकिन अंदर में गड़बड़ी होगी

निंदक – इसका मतलब है यहां कि बाते वहां ; वहां कि बाते यहां

माता-पिता की बात टालने वाले – इसका मतलब मा बाप को क्या लगे क्या ना लगे उनको फरक ही नहीं पड़ता है

ईमानदारी कि आयतें :

कुलुस्सियों 3:9

9 एक दूसरे से झूठ मत बोलो, क्योंकि तुम ने अपना पुराना जीवन उसके कामों सहित दूर कर दिया है।

2 कुरिन्थियों 4:2

2 लेकिन हम ने शर्म के छिपे हुए कामों को छोड़ दिया है। हम न चालाकी से जीते हैं और न परमेश्वर के वचन में मिलावट करते हैं।

लेकिन हम सच्चाई को सामने रखकर, परमेश्वर के सामने (मौजूदगी में) हर एक इन्सान के विवेक में अपनी भलाई बैठाते हैं।

याकूब 5:16

16 इसलिए तुम एक-दूसरे के सामने खुलकर अपने पाप मान लो और एक-दूसरे के लिए प्रार्थना करो ताकि तुम अच्छे हो जाओ। एक नेक इंसान की मिन्नतों का ज़बरदस्त असर होता है।

नीतिवचन 28:13

13 जो अपने अपराध छिपाए रखता है वह सफल नहीं होगा, लेकिन जो इन्हें मान लेता है और दोहराता नहीं, उस पर दया की जाएगी।

रोमियों 12:17

17 किसी के बुरा करने पर उससे बदला मत लो। सब लोगों की निगाह में जो उत्तम है, उसी को महत्व दो।

2 कुरिन्थियों 8:21

21 इसलिए कि हमें इस बात की चिन्ता है कि वही किया जाए जो न केवल प्रभु की दृष्टि में सही है। लेकिन मनुष्यों की दृष्टि में भी।

नीतिवचन 11:1,3

1 बेईमानी के तराज़ू से यहोवा घिन करता है, लेकिन वह सही बाट-पत्थर से खुश होता है।

3 सीधे-सच्चे इंसान का निर्दोष चालचलन उसे राह दिखाएगा, मगर छल-कपट करनेवाले का कपट खुद उसका नाश कर देगा।

नीतिवचन 12:13, 17

13 बुरा इंसान अपनी ही बुरी बातों के जाल में फँस जाता है, लेकिन नेक जन मुसीबतों से बच जाता है।

17 विश्वासयोग्य गवाह सच बोलता है, लेकिन झूठा गवाह छल-कपट की बातें कहता है।

Leave a Comment